प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना निर्माण  कार्य मे ठेकेदार द्वारा की जा रही गंभीर अनियमितता ?

खलील मंसूरी की रिपोर्ट उदयगढ़

 

उदयगढ़( निस) अलिराजपुर जिले मे प्रत्येक विकास खण्ड स्तर पर जगह जगह  गावं को गावं से जोड़ने व ग्रामीण सड़क को स्टेट सड़क से जोड़ने के लिए केन्द्र शासन   व म, प्र,शासन  द्वव के सहयोग से प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत टेंडर स्वीकृत कर ठेकेदारों द्वारा  करोडो़ अरबो रुपया सड़क निर्माण के नाम  पर व्यय करता  आ रहा है। ताकि ग्रामीण आमजन को गाव से शहर व शहर से गावं की और आसानी से आने जाने मे सुविधा हो  सके।

 

   किन्तु  क्षैत्र मे अक्सर देखने या जाचं पड़ताल से स्थति स्पष्ट नजर आ रही है  

 कि ठेकेदार सड़क निर्माण कार्य मे काफी गंभीर अनियमितता बरती जा कर  खुले आम  घटिया निर्माण को अंजाम  दिया जा रहा है।

 

इसी प्रकार का मामला उदयगढ क्षैत्र मे झाबुआ जोबट मार्ग से बोरी रोड़(फुटतालाब फाटक ) तक करीब 12,55 किलो  मीटर  सड़क निर्माण कार्य मे देखा जा सकता है।

 

जैसे स्वंय ठेकेदार ने अपने  स्वीकृत टेडंर अनुसार निर्मित सड़क व  कार्य  स्थल पर इन्फोरमेशन बोर्ड   मे .टेडंर स्वीकृत राशि 7करोड़ 38लाख72हजार  मे    कुल 46 छोटे बडे़  पुलिया निर्माण व सड़क डामरीकरण से पुर्व अर्थवर्क सहित क्या क्या करना है सब बोर्ड पर चस्पा किया गया किन्तु ठेकेदार अन्य छोटे ठेकेदारों को पेटी कान्टेट व क्युब मीटर पर कार्य देकर घटीया कार्य करवा रहा है। तथा चल रहै पुलिया निर्माण मे पानी की तरी का भी उपयोग नही के बराबर किया जा रहा है।तथा स्लेप पुलिया मे  10 एम एम व 12 एम एम सलीया का उपयोग कर पुलिया काफी कमजोर व घटिया बनाई जा रही है ।साथ ही बीच बीच मे वर्षो पुराने जर जर  हो रहे पाईप वाले पुलिया का नव निर्माण नही करते हुए पुराने डामरीकरण सड़क पर ही डामरीकरण किया जा गया है?

 

जबकि  उदयगढ़ प्रतिनिधि की पड़ताल मे पाया कि ठेकेदार इस मार्ग पर  46पुल पुलिया निर्माण के  बजाय 28पुलिया  का ही  निर्माण  किया  है ।जिसमे 12 पुलिया का निर्माण  अभी प्रगति पर है । तथा शेष 8किलो मीटर मार्ग छोड़कर केवल 4किलो मीटर का मार्ग पर अर्थ वर्क  कार्य जारी है।  जिसमे भी टेन्डर  प्रकिया की शर्तो पर कार्य नही करते हुए घटिया कार्य किया जा रहा है।   साथ ही  8 किलो मीटर जो सड़क मार्ग पुर्व से बना हुआ  था, वह सड़क मार्ग जर जर हो चुका था ।उस जर जर सड़क पर  बिना कोई अर्थ वर्क   या डामर उखाडे़  ही उप यंत्री अमीचंद की देख रेख मे पुर्व डामर पर ही डामरी क रण किया जा कर ठेकेदार ने अपने कार्य की इति श्री कर ली है? प्रधान मंत्री सड़क योजना कार्य मे सबंधित विभाग व ठेकेदार मिलकर शासन को खुले आम चुना लगा रहे है?

 

 

इस सबंध मे जब  प्रतिनिधि ने उपयंत्री से चर्चा की गई तो  उन्होने गोल माल जवाब देते हुए बताया कि गाव की छोटी सड़को  को बडी़ सड़को से जोडा़ जा रहा है।    इसलिए इस मार्ग  8किलो मीटर पर डामर पर डामर डाला जा कर मार्ग का नवीनीकरण किया  है शेष 4,55

 

किलो मीटर  सड़क का अर्थ वर्क व 28पुलिया  का निर्माण  कार्य नियमानुसार  व टेडंर प्रक्रिया की शर्तो अनुसार कार्य करने की बात कही गई?

 

अमीचंद निगवाल                                         उप यंत्री

 

म, प्र,ग्रामीण सड़क विकास

 

प्राधिकरण(अलिराजपुर)

 

 

 

इस सबंध  जब ठेकेदार भवानीसिह बाघेला से बात की तो उन्होने 3,800 किलो मीटर नवीन कार्य व शेष  सड़क  कार्य पुराना( रिनिवल)कार्य होना बताया गया।

 

भवानीसिह बाघेला

 

गणेश कान्ट्रेक्शन हिम्मत नगर  (गुजरात)

 

 

 

जबकि इस मार्ग पर स्वयं ठेकेदार  द्वारा इन्फोर्मेशन बोर्ड चस्पा कर यह दर्शाया है कि 46पुलिया निर्माण सहित करीब 12,55किलो मीटर का सड़क  निर्माण कार्य निर्धारित 12माह मे  पुर्ण किया जाना तय है। पर अभी कार्य प्रारम्भ किये करीब आठ माह बीत चुके है अब केवल चार माह मे ठेकेदार को यह कार्य पुर्ण करना है जो असम्भव सा प्रतीत होता है।

 

अब सवाल यह उठ रहा है कि मार्ग पर सुचना बोर्ड से यह स्पष्ट  है कि ठेकेदार को इस मार्ग पर 46पुलिया निर्माण व 12,55 कीलोमीटर का सड़क निर्माण लागत राशि 7करोड़38लाख 72हजार मे तयशुदा टेंडर प्रकिया मे पुर्ण करना है तो फिर ठेकेदार द्वारा 8किलोमीटर पुराने कार्य को नवीनीकरण व शेष 4किलोमीटर नवीन कार्य क्यु किया जा रहा है ? तथा 46के बजाय 28पुलिया का ही निर्माण किया जा रहा है जबकि इस मार्ग पर ऐसे क ई पुलिया जो काफी वर्षो पुराने होकर जर जर हो चुके है ?उसके उपर ही ठेकेदार ने डामरीकरण कर दिया?

 

इस प्रकार चल रहे सड़क निर्माण से क्षैत्र की अशिक्षित आदिवासी ग्रामीण जनता यह समझ ही नही पा रही है कि हमारे गाव मे बनने वाली सड़क नव निर्मित है या पुरानी ही सड़क को नवीनीकरण किया जा रहा है।इस बात को लेकर आम जनता अस मंजस की स्थति मे है ?क्या सबंधित विभाग या जिला प्रशासन यह स्पष्ट कर पायेगा कि आखिर माजरा क्या है?

 

फोटो  (1)मार्ग पर इन्फोरमेशन बोर्ड चस्पा

 

फोटो (2)पुराने सड़क पर नवीन डामरीकरण करते हुए।

 

फोटो(3)पुर्व से क्षति ग्रस्त पुलिया जिनको निर्माण किये डामरीकरण कर दिया।

 

फोटो(4) ठेकेदार मार्ग पर गीटटी व मोरम बीना दबाई  किये  बीछा दी गई?

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +918962423252

आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरण करने के मामले में न्यायालय ने किया 4 आरोपियों को दोषमुक्त     |     जैन पाठशाला प्रारंभ, जैन समाज द्वारा धार्मिक पाठशाला प्रारंभ     |     जवाहर नवोदय विद्यालय के प्राचार्य तिलक सिंह की सेवानिवृत्ति पर विदाई समारोह का हुआ आयोजन     |     कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने, पुलिस कप्तान के साथ मतदान केन्द्र का जायजा लिया     |     अलीराजपुर नगर की ऐसी भी आंगनबाड़ी है। जो दूर होने व बीच मे नदी होने पर माता पिता बच्चों को भेजने में डरते है। जानिये कहा है और कोनसे वार्ड में खास खबर में     |     अज्ञात कारणों के चलते नाबालिक ने लगाई फासी     |     जावरा के गौ तस्करों को सजा, अवैध रूप से गाय व केड़ो को कत्लखाने ले जाने वाले तीन आरोपियों सम को हुई सज़ा     |     दो बाईक की जबरजस्त भीडत , सड़क दुघर्टना में धार के मशहूर भटियारे की मौत     |     चंद्रशेखर आजाद नगर के पंचायत बडा खुटाजा में कांग्रेस के कद्दावर नेता को मिली सरपंच चुनाव में हार     |     मतदान को लेकर ग्रामिण मतदाताओ मे दिखा उत्साह     |    

error: Content is protected !!