संत रविदास के वंशजों को मिला सम्मान,आजीविका ने दी पहचान

 
general hospital
 
general hospital
 

उदयगढ़- समूह से जुड़कर हमने मुर्गे क्रय विक्रय करने का काम प्रारंभ किया, स्थानीय हाट बाजार जोबट, भाबरा, आंबुआ, उमराली, उदयगढ़ , अलीराजपुर, राणापुर से हम मुर्गियां , बकरा बकरी खरीदते हैं फिर बेचते हैं । हम इन हाटबाजार के अलावा गुजरात में चिडावाड़ा बाबा देव आदि स्थानों पर पिकअप वाहन के माध्यम से मुर्गियां, बकरे भी ले जाते हैं और अच्छे भाव में बेचते हैं । जिनको बेचने पर हमें कम से कम सब खर्चा काटने के बाद ₹100 से ₹500 तक की बचत हो जाती है । इसके साथ ही परिवार के अन्य सदस्य बांस के टोकरे झाड़ू आदि भी बेचते हैं । यह कहना है श्रीमती जानीबाई पति सुरसिह गुनेर जो कि जमरा आजीविका स्वयं सहायता समूह ग्राम बड़ा इटारा की अध्यक्ष हैं । विकासखंड प्रबंधक विजय सोनी ने बताया कि, गांव में अनुसूचित जाति भूमिहीन परिवारों को वर्ष 2019 में मध्य प्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत समूहों में जोड़ा गया था ।

इसके बाद मध्यप्रदेश ग्रामीण बैंक आंबुआ के माध्यम से सभी समूहों को ₹1,00,000 की सीसीएल राशि दिलवाई समूह की बचत एवं ग्राम संगठन के माध्यम से भी उनको ऋण उपलब्ध करवाया गया, जिसका उपयोग समूह के सदस्यों ने पशु पक्षी, खरीदी बिक्री जिसे स्थानीय भाषा में कोयडी का धंधा कहा जाता है के साथ-साथ अन्य आय वर्धक गतिविधियों में किया जा रहा हैं । सहायक विकासखंड प्रबंधक कमल चौहान के अनुसार गांव में 32 अनुसूचित जाति का परिवार को समूह में जुड़ने के लिए चिन्हित किया गया था जिनमें से 31 परिवार भूमिहीन है । एक परिवार के पास थोड़ी जमीन जरूर है। इन सभी समूहों को बैंक से सीसीएल राशि दिलवाई जा चुकी है। इसके अतिरिक्त ग्राम संगठन के माध्यम से भी इन्हें ऋण उपलब्ध करवाया गया है। सभी समूहों के सदस्य किराना, कॉयडी, बांस के उत्पाद आदि का व्यापार कर आत्मनिर्भर हो गए हैं । गांव का नानू महादेव आजीविका स्वयं सहायता समूह के 11 सदस्य आसपास के गांव से बास खरीद कर उससे बनाए टोकरे, झाड़ू आदि दूसरे समूह की महिलाओं को बेचते हैं । जिससे हर सामग्री पर 50 से ₹80 की कमाई बेचने वाले सदस्य को हो जाती है। इसके अतिरिक्त बनाने वाले समूह सदस्यों को भी रोजगार मिल रहा है। श्रीमती जानीबाई ने अपनी कमाई से रिक्शा भी खरीदा था जिसकी किस्त चुकाने में भी समूह ने उसकी मदद की थी । सभी समूह सदस्य अपने बच्चों को भी स्कूलों में पढ़ाई करने के लिए भिजवा रहे हैं ताकि उनका भविष्य सुरक्षित हो सके। इस प्रकार आपसी सामंजस्य और मेलजोल के कारण समूह के सभी सदस्य स्वावलंबी होकर सम्मान पूर्वक जीवनयापन कर रहे हैं।

“मध्य प्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन के माध्यम से अनुसूचित जाति के परिवारों को समाज की मुख्यधारा में लाकर स्वावलंबी बनाने की दिशा में किए जा रहे प्रयास सराहनीय है। समाज का यह तबका सम्मानपूर्वक जीवन जीकर महिला सशक्तिकरण का बेहतर उदाहरण बन रहा है”

पवन शाह

मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत उदयगढ़

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +918962423252

आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरण करने के मामले में न्यायालय ने किया 4 आरोपियों को दोषमुक्त     |     जैन पाठशाला प्रारंभ, जैन समाज द्वारा धार्मिक पाठशाला प्रारंभ     |     जवाहर नवोदय विद्यालय के प्राचार्य तिलक सिंह की सेवानिवृत्ति पर विदाई समारोह का हुआ आयोजन     |     कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने, पुलिस कप्तान के साथ मतदान केन्द्र का जायजा लिया     |     अलीराजपुर नगर की ऐसी भी आंगनबाड़ी है। जो दूर होने व बीच मे नदी होने पर माता पिता बच्चों को भेजने में डरते है। जानिये कहा है और कोनसे वार्ड में खास खबर में     |     अज्ञात कारणों के चलते नाबालिक ने लगाई फासी     |     जावरा के गौ तस्करों को सजा, अवैध रूप से गाय व केड़ो को कत्लखाने ले जाने वाले तीन आरोपियों सम को हुई सज़ा     |     दो बाईक की जबरजस्त भीडत , सड़क दुघर्टना में धार के मशहूर भटियारे की मौत     |     चंद्रशेखर आजाद नगर के पंचायत बडा खुटाजा में कांग्रेस के कद्दावर नेता को मिली सरपंच चुनाव में हार     |     मतदान को लेकर ग्रामिण मतदाताओ मे दिखा उत्साह     |    

error: Content is protected !!