मामला वन विभाग का आठ माह से  सैकडो़ आदिवासी मजदुरो को अपनी मजदुरी का भुगतान शेष

 
general hospital
 
general hospital
 
खलील मंसूरी @ उदयगढ़ ✍🏻

उदयगढ( निस)वन परिक्षैत्र जोबट के अन्तर्गत सब रेंज बोरी के बीट भैसावदा कक्ष क्रमाक 7 व कक्ष क्रमाक 9 मे 100/100हेक्टेयर वन भुमि मे तथा सियाली बीट कक्ष क्रमाक 10मे  50हेक्टेयर वनभुमि मे  शासन से स्वीकृत  केम्पा योजना मे वृक्षारोपण के कार्य  करवाए गये थे।

जिसमे ,ग्राम पाट बयडी़, भैसावदा,सिमलखेडी़,सियाली,डेडरवासा,आदि गाव के सैकडो़ आदिवासी महिला व पुरूषो ने गत वर्ष म ई जुन जैसे माह मे व कडी़ धुप भीषड़ गर्मीयों मे जी तोड़ मेहनत कर वृक्षारोपण के लिए गड्ढे खुदवाई ,तारफेंसिग  गड्ढों मे मिट्टी डलवाई जैसे कार्य बोरी सब रेंज के डिप्टी रेजर व पदस्थ वन रक्षको के द्वारा कार्य करवाया गया था। जिसका उनको मजदुरी का भुगतान  आज तक नही दिया जा रहा है?

ग्राम भैसावदा के स्कूल फलिया,  के प्रकाश पिता प्रेमसिह,सुनील पिता सागर सिह,रेशम पिता सागर सिह,कबाई पिता राय सिह,सागरसिह पिता उकारसिह,रिकु पिता दशरथ ,पिकु पिता दशरथ संगीता पिता प्रकाश ,रमेश पिता मेसलिया ,अनीता पिता मेसलिया, सुनील  पिता भगडा़, व ग्राम सिमल खेडी (स्कूल फलिया)के अर्जुन पिता भगडा़ ,प्रताप,राजमल,चंदरिया,भगड़ा पिता वेस्ता  तथा ग्राम डेडरवासा मसानिया फलिया के झेतु पिता लालसिह,रामसिह पिता गणपत,सुनील पिता कुवरसिह, भावसिह पिता झेतु, सुशीला पिता जुवानसिह, शिला पिता गणपत, अमर सिह पिता मन्ना, आदि ग्रामीणो ने बताया कि हम सैकडो़ आदिवासी मजदुर का मजदुरी का भुगतान वन विभाग के अधिकारियों द्वारा नही किया जा रहा है।

इस  सबंध मे हम क ई बार डिप्टी रेजर नन्नु सिह भाभर बोरी से व वन रक्षक समरथ चौहान, वन रक्षक डी एस सोलंकी से क ई बार राशि भुगतान की मागं की ।परन्तु आज आठ माह व्यतीत हो चुका हमे कि गई मजदुरी का भुगतान नही किया जा रहा है? हम आदिवासी मजदुर अपनी मजदुरी भुगतान को लेकर काफी परेशान है। वन विभाग के अधिकारी कभी आवंटन नही है के नाम तो कभी भोपाल से राशि नही आ रही का हवाला देकर काफी परेशान किया जा रहा है।

यहि नही वन सुरक्षा कर्मी (चौकिदार )रकम पिता मनीया,वेस्ता पिता  बुधा ने बताया की छः माह हो गये  तथा,कलम सिह पिता  मावलिया,व  तिखु पिता नरसिह ग्राम गामली सालर वन चौकिदारो को करीब एक डेड़ वर्ष से

चौकिदारी का भुगतान शेष है।इस प्रकार वन परिक्षैत्र जोबट के अन्तर्गत समस्त वन सुरक्षाकर्मी (चौकिदारो) का भी  किसी का छः माह तो किसी का एक वर्ष तो किसी का इससे भी अधिक का भुगताश शेष है।

उल्लेखनीय है कि सियाली बीट कक्ष क्रमाक 10मे  प्लान्टेशन मे  देख रेख के लिए कार्यरत दो वन सुरक्षाकर्मी/ चौकिदार/ है ।पर उनको विभाग एक माह के अन्तर  से  पाचँ/पाचँ हजार  रुपये का भुगतान कर रहा है।  जबकि दोनो को प्रति माह पाचँ हजार का भुगतान दिया जाना चाहिये।क्युकि शासन के नियमानुसार दो वन सुरक्षाकर्मी को रखने के प्रावधान है। पर यहाँ एक भुगतान से दो सुरक्षा कर्मी से काम लिया जा रहा है।

मजदुरो उनकी मजदुरी नही मीलने व सुरक्षा कर्मीयो को समय पर  मानदेय नही दिये जाने पर जब डिप्टीरेजर नन्नुसिह भाभर से चर्चा की गई तो उन्होने बताया कि  मै  अभी एक वर्ष से पदस्थ हुँ और मैने गड्ढे मे मीट्टी भरवाई व पौधा रोपण  कार्य करवाया था।मजदुरी  भुगतान हेतु व्हाउचर आदि बनाकर विभाग को पिछले  पाचँ माह पुर्व प्रेषित कर चुका हुँ अब भुगतान विभाग की और से नही किया जा रहा है? इसमे मेरा क्या दोष है।

डिप्टी रेजर नन्नुसिह भाभर सब रेज ब़ोरी

वन परिक्षैत्र जोबट (अलिराजपुर)

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +918962423252

दो साल बाद हज के मुकद्दस सफर पर रवाना हुए जायरीन ,समाजजनों ने ईस्तकबाल कर दी विदाई नूर मोहम्मद मकरानी सपत्नी मुकद्दस हज के लिए रवाना हुए      |     भगवान श्री जगन्नाथ जी रथयात्रा महोत्सव     |     सोंडवा महाविद्यालय में नवीन प्रवेशित विद्यार्थियों हेतु इंडक्शन कार्यक्रम का आयोजन तथा कक्षाओं का प्रारम्भ     |     पानी नही आने की वजह से जिंदा इंसान को मुर्दा बनाकर नगर में निकली गई अर्थी     |     मतदान को लेकर ग्रामिण मतदाताओ मे दिखा उत्साह     |     आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरण करने के मामले में न्यायालय ने किया 4 आरोपियों को दोषमुक्त     |     जैन पाठशाला प्रारंभ, जैन समाज द्वारा धार्मिक पाठशाला प्रारंभ     |     जवाहर नवोदय विद्यालय के प्राचार्य तिलक सिंह की सेवानिवृत्ति पर विदाई समारोह का हुआ आयोजन     |     कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने, पुलिस कप्तान के साथ मतदान केन्द्र का जायजा लिया     |     अलीराजपुर नगर की ऐसी भी आंगनबाड़ी है। जो दूर होने व बीच मे नदी होने पर माता पिता बच्चों को भेजने में डरते है। जानिये कहा है और कोनसे वार्ड में खास खबर में     |    

error: Content is protected !!