विधायक मुकेश पटेल ने लगाए आरोप आबकारी और पुलिस विभाग की उदासीनता से जिला बना अवैध शराब परिवहन और विक्रय का गढ़

प्रशासन ने इस पर अंकुश नही लगाया तो करेंगे बडा आंदोलन- विधायक मुकेश पटेल

आलीराजपुर आदिवासी बाहुल्य आलीराजपुर जिले में इन दिनों आबकारी और पुलिस विभाग की उदासीनता से जिला अवैध शराब का गढ़ बना हुआ है। यदि प्रशासन ने इस पर अंकुश नहीं लगाया तो आलीराजपुर विधासनसभा क्षेत्र की शराब दुकानों के सामने बडा आंदोलन किया जाएगा। ये बात विधायक मुकेश पटेल ने रविवार को एक प्रेस विज्ञप्ति में कही। हर दिन दर्जनों वाहन करते है अवैध शराब का परिवहन विधायक पटेल ने कहा कि जिले में हर दिन दर्जनों की संख्या में अवैध शराब से भरे वाहन गांव गांव और फलियों में शराब की सप्लाई करते है। ये वाहन जिले की शराब दुकानों सहित अन्य जिलो से अवैध शराब परिवहन करके जिले के विभिन्न क्षेत्रों सहित गुजराज राज्य में भी शराब पहुंचाते है। परंतु आबकारी और पुलिस विभाग आंखे मूंदकर अवैध शराब के परिवहन से अनजान बने होने का नाटक करते नजर आते है। युवाओं पर हो रहा असर, जकड रहे नशे के जाल में विधायक पटेल ने कहा की प्रशासन की उदासीनता के कारण जिले का युवा नशे के मकड़जाल में फंसता जा रहा है। वर्तमान में जिले में वैवाहिक कार्यक्रम अत्यधिक संख्या में आयोजित हो रहे है। जो की आगामी कई दिनों तक आयोजित होंगे। इसका फायदा उठाते हुए शराब ठेकेदार और इनके संरक्षण में अवैध शराब के कारोबारी मनमाने और महंगे दामों पर शराब की खपत करने में रात दिन लगे हुए है। जांच समिति हर महीने करे औचक निरीक्षण

विधायक पटेल ने कलेक्टर और एसपी से मांग की है जिले में अवैध शराब के परिवहन और विक्रय की रोकथाम के लिए और नशे के जाल से युवाओं को बचाने के लिए एक जिला स्तरीय जांच समिति बनाई जाए जिसमें राजस्व विभाग, आबकारी विभाग,पुलिस विभाग सहित क्षेत्रीय विधायक भी शामिल हो और उक्त जांच समिति हर महीने किसी भी शराब दुकान का औचक निरीक्षण कर अवैध गतिविधियों की जांच करे ताकि शराब दुकानों तथा गोदामों से होने वाली अवैध गतिविधियों पर अंकुश लग सके। हर शराब दुकान व गोदाम पर लगवाएं सीसीटीवी कैमरे, निर्धारित मापदण्डों का पालन करवाएं

विधायक पटेल ने कहा कि जिले के हर शराब दुकान व गोदाम पर सीसीटीवी कैमरे लगवाएं जाएं, शराब दुकानों पर भाव सूची, बोर्ड, कलेक्टर, एसपी, जिला आबकारी अधिकारी के नाम व मो0 नम्बर की सूची तथा शराब दुकान के स्टॉफ के नाम व मोबाइल नंबर आदि चस्पा हो तथा शराब खरीदने वाले प्रत्येक ग्राहक को अनिवार्य रूप से उसका बिल भी प्रदान किया जाए। यदि समय रहते इस प्रकार से सख्ती नही बरती गई तो जिले में किसी भी दिन नकली या जहरीली शराब की खपत होने से कई लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड सकता है। यदि कभी दुर्भाग्यवश ऐसी घटना घटित हो गई तो उसकी संपूर्ण जवाबदारी जिला और पुलिस प्रशासन की होगी। क्योंकि जिला प्रषासन, पुलिस विभाग और आबकारी विभाग को बार बार चेतावनी देने के बाद भी यदि शराब की अवैध गतिविधियों पर अंकुष नहीं लग पाता है तो इसके जिम्मेदार ये ही विभाग रहेंगे।

विधायक पटेल ने कहा कि ये मेरी अंतिम चेतावनी है यदि जिले में अवैध शराब के परिवहन और विक्रय पर रोक नहीं लगाई गई तो आलीराजपुर विधानसभा क्षेत्र की शराब दुकानों का घेराव कर बडा आंदोलन किया जाएगा।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +918962423252

कोतवाली पुलिस द्वारा बाईक चोरी करने वाले चोरो पर प्रभावि कार्यवाही     |     मोबाइल क्लिनिक का सुभारम्भ सप्ताह मे 6 दिन जाने कहा कहां होगा संचालित     |     दो साल बाद हज के मुकद्दस सफर पर रवाना हुए जायरीन ,समाजजनों ने ईस्तकबाल कर दी विदाई नूर मोहम्मद मकरानी सपत्नी मुकद्दस हज के लिए रवाना हुए      |     भगवान श्री जगन्नाथ जी रथयात्रा महोत्सव     |     सोंडवा महाविद्यालय में नवीन प्रवेशित विद्यार्थियों हेतु इंडक्शन कार्यक्रम का आयोजन तथा कक्षाओं का प्रारम्भ     |     पानी नही आने की वजह से जिंदा इंसान को मुर्दा बनाकर नगर में निकली गई अर्थी     |     मतदान को लेकर ग्रामिण मतदाताओ मे दिखा उत्साह     |     आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरण करने के मामले में न्यायालय ने किया 4 आरोपियों को दोषमुक्त     |     जैन पाठशाला प्रारंभ, जैन समाज द्वारा धार्मिक पाठशाला प्रारंभ     |     आजादनगर पुलिस को मिली सफलता वाहन चोरी के आरोपी को किया गिरफ्तार, आरोपी से बाईक जप्‍त     |    

error: Content is protected !!