ग्रामीण जन शादीयों में कोरोना गाइड लाइन का पालन करें, स्वास्थ्य खराब होने पर अस्पताल जाकर जांच करावे,जयस ने की अपील

जिला प्रशासन व्यापारीयों के संपर्क नम्बर जारी कर होम डिलेवरी की सुविधा मुहैया करावे

अलीराजपुर:- वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की वजह से ग्रामीण क्षेत्र में गत वर्ष से शादियां रुकी हुई है,इस वर्ष जिला प्रशासन के दिशा निर्देश एवं कोविड-19 की गाइड लाइन से ग्रामीण क्षेत्र ,आदिवासी समाज में शादियां चल रही है,परंपरागत रीति रिवाज एवं पूजा पाठ के लिए दूल्हा- दुल्हन की आवश्यक सामग्री दुकाने बंद होने से नही मिल पा रही है,आवश्यक सामग्री खरीदने के लिए ग्रामीण बाजार में आये दिन भटक रहे हैं,

जिला प्रशासन शादी कराने के लिए गाइड लाइन तो जारी कर दी है

परन्तु यह प्रशासन भूल गया है कि कोई कार्यक्रम करना है तो आवश्यक सामग्री कहा से लायेंगे, ग्रामीण जन शादी की तारीखें तय कर आवश्यक सामग्री खरीदने एवं उसके बंदोबस्त के लिए बाजार आ रहे हैं परन्तु पुलिस प्रशासन द्वारा मुख्य प्रवेश से ही भगा दिया जाता हैंऔर कहीं से बाजार में आ भी जाते हैं तो सभी दुकान बंद होने से बहुत परेशान होते हैं, जिला प्रशासन से मांग है कि व्यापारी लोग के संपर्क नम्बर जारी करवाये जावे तथा फोन पर प्राप्त आडर अनुसार व्यापारीयों के माध्यम से होम डिलीवरी की सुविधा मुहैया करवाई जावे या एक निश्चित समय स्थल तय किया जाना चाहिए। जिससे कि शासन गाइड लाइन का पालन करते हुए ग्रामीण जन सामग्री खरीद कर शादीयां सम्पन्न करा सकते हैं।

आदिवासी समाज के सामाजिक कार्यकर्ताओं के द्वारा भी लगातार ग्रामीण क्षेत्रों में सतत संपर्क कर आये दिन होने वाली आकस्मिक मृत्यु होने पर निगरानी रख रहे हैं और सतर्कता रहने के लिए जागरूक किया जा रहा है,शादियों में कम से कम लोगों को आमन्त्रीत कर परिवार के सदस्यों की उपस्थिति में ही शादी सम्पन्न करने,45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना वायरस का टीका अनिवार्यतः लगाने एवं सर्दी जुकाम, खासी, बुखार होने पर तत्काल अस्पताल जाकर जांच कराने के साथ ही आवश्यक सतर्कता के लिए जनजाग्रति की अपील की जा रही है।

साथ ही मांग की जाती है कि

ग्रामीण जन चोलाछाप बंगाली डॉक्टरों के यहां चूपचाप इलाज करवाने के कारण ग्रामीणों की कोरोना की जांच नही हो पा रही है, स्थिति गंभीर होने पर ही ग्रामीण अस्पताल आ रहा है जिसके कारण स्वस्थ्य में रिकवर नही होता है, संदिग्ध पाए जाने पर तत्काल जांच की जावे ताकि परिवार के अन्य सदस्यों को संक्रमित होने से बचाया जा सके।

जयस राज्य प्रभारी मुकेश रावत ने कहा कि जिला प्रशासन को कोरोना कर्फ्यू के दौरान आम लोगों की सुविधाओं को भी ध्यान में रखना चाहिए,ताकि नागरिकों को कोई असुविधा ना हो।

जयस जिला अध्यक्ष विक्रम सिंह चौहान ने कहा कि जिला प्रशासन ग्रामीण एवं आम लोगों की दैनिक प्रक्रिया एवं उपयोगी सामग्री जैसे साग-सब्जी,दाल,हल्दी मसाला, तथा आवश्यक सामग्री की उपलब्धता के लिए होम डिलेवरी व्यवस्था सुनिश्चित करना चाहिए, ताकि आम लोगों को परेशानी का सामना नही करना पड़े।

अरविंद कनेश जयस जिला उपाध्यक्ष ने कहा कि

ग्रामीण क्षेत्रों में शादियों का सीजन चल रहा है हमारे द्वारा भी कोरोना गाइड लाइन का पालन करने के लिए अपील की जारी है,परन्तु सम्पूर्ण जिले में कोरोना कर्फ्यू लागू होने से सभी दुकान बंद हैं,शादियों को सम्पन्न करने के लिए आवश्यक सामग्री की आवश्यकता होती है,जिसके लिए ग्रामीण भाई बाजारों में भटक रहा है, जिला प्रशासन त्वरित कार्यवाही कर व्यापारीयों से संपर्क नम्बर जारी करवा कर घर पहुच सुविधा मुहैया करवाई जाना चाहिए। यहां तक कि किसी की मृत्यु होने पर भी अंतिम संस्कार के लिए भी आवश्यक सामग्री ग्रामीण जनों को उपलब्ध नही हो पा रही है।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +918962423252

पानी नही आने की वजह से जिंदा इंसान को मुर्दा बनाकर नगर में निकली गई अर्थी     |     मतदान को लेकर ग्रामिण मतदाताओ मे दिखा उत्साह     |     आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरण करने के मामले में न्यायालय ने किया 4 आरोपियों को दोषमुक्त     |     जैन पाठशाला प्रारंभ, जैन समाज द्वारा धार्मिक पाठशाला प्रारंभ     |     जवाहर नवोदय विद्यालय के प्राचार्य तिलक सिंह की सेवानिवृत्ति पर विदाई समारोह का हुआ आयोजन     |     कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने, पुलिस कप्तान के साथ मतदान केन्द्र का जायजा लिया     |     अलीराजपुर नगर की ऐसी भी आंगनबाड़ी है। जो दूर होने व बीच मे नदी होने पर माता पिता बच्चों को भेजने में डरते है। जानिये कहा है और कोनसे वार्ड में खास खबर में     |     अज्ञात कारणों के चलते नाबालिक ने लगाई फासी     |     जावरा के गौ तस्करों को सजा, अवैध रूप से गाय व केड़ो को कत्लखाने ले जाने वाले तीन आरोपियों सम को हुई सज़ा     |     सोंडवा महाविद्यालय में नवीन प्रवेशित विद्यार्थियों हेतु इंडक्शन कार्यक्रम का आयोजन तथा कक्षाओं का प्रारम्भ     |    

error: Content is protected !!