Ad2
Banner1

शिक्षा का मंदिर बना अश्लीलता का अड्डा, अधिकारियों की लापरवाही आई सामने

शिक्षक खुद दे रहे हैं बढ़ावा, जिम्मेदार अधिकारी मौन, क्यों है शिक्षा में पिछड़ा अलीराजपुर जिला

अलीराजपुर जिले में शिक्षा विभाग के के शीर्ष अधिकारियों की अनदेखी और लापरवाही के कारण विद्यालय अश्लील हरकतों का अड्डा बनता जा रहा है। इससे बेफिक्र बैठे हैं शिक्षा विभाग के अधिकारी इस वजह से यहां भ्रष्ट एवं कामान्ध शिक्षकों के हौसले बुलंद हैं। जिले में शिक्षा का स्तर निचले पायदान पर हैं। जिसकी वजह ऐसे जिम्मेदार शिक्षक जो स्कूल मे हो रही छात्राओ से छेड़खानी व अश्लील हरकतों को नजरंदाज कर बढ़ावा दे। रहे है ऐसे शिक्षकों को निलंबित कर देना चाहिए स्कूल को शिक्षा का मंदिर कहां जाता है। और शिक्षक को देवता की समान माना जाता है। मगर अलिराजपुर जिले कि कुछ स्कूलों का कुछ शिक्षकों का शर्मसार कर देने वाली हरकते लगातार सामने आ रही है। जो जिले के लिए बड़ी समस्या हो सकती है। कुछ अपना रसूख दिखाकर तो कुछ पैसों के बल पर तो कुछ राजनितिक पैठ बताकर जमे बैठे हैं। वहीं जिले में एक स्कूल में लड़का एक लड़की को सरेआम पकड़कर छैडखानी व अश्लील हरकत करते हुए वीडियो में नजर आ रहे है। इस विडियो को वायरल हुए करीब सप्ताह हो चुका है। मगर शिक्षा विभाग के अधिकारी व प्रसाशन कोई सुध लेने वाला नहीं है। या फिर ये समझा जाये की ये शिक्षक और अधिकारियों की मिलीभगत है। जिस पर कोई ठोस कार्यवाही नही की जा रही हैं।

पुर्व में भी जोबट में एक शिक्षक साथी महिला कर्मचारी के साथ रंगरलियां मनाते हुए विडियो वायरल हुआ था। जिसपर कलेक्टर राघवेन्द्र सिंह के निर्देश पर उसे निलंबित कर दिया था।उसके पश्चात फिर इस तरह के विडियो वायरल होने से शिक्षा विभाग की अनदेखी सामने आई है वहीं स्कूल के शिक्षको पर भी सवाल उठ रहे हैं। इनकी हरकतों के खामियाजा अच्छे शिक्षको को भी परेशानी का सामना करना पड़ता जिले में अच्छे शिक्षको की कमी नहीं है हम ऐसे शिक्षकों का सम्मान करते हैं।

इस संबंध में जब उक्त संवाददाता ने शिक्षक से फोन पर बात करना चाही तब शिक्षक ने थोड़ी देर से कॉल करता हु। बोलकर कॉल डिस्कनेक्ट कर दिया जिसकी कॉल डिटेल उक्त संवाददाता के पास मोजुद है। मतलब साफ है शिक्षक इस मामले में लिपा पोती करने की जुगाड में है।

शिक्षा विभाग में इस तरह की घटना आम हो गयी

शिक्षा विभाग में इसतरह की घटना पहली बार नहीं हुई है आए दिन विडियो फोटो वायरल हो रहे बावजुद शिक्षा विभाग लिपा पोती कर एक स्थान से दुसरे स्थान पर फिर गंदगी फेलाने ऐसे शिक्षकों को भैज देते हैं ताजा मामला अलीराजपुर जिले की आमखुट मिडिल स्कूल का जहां एक छात्र दुसरी छात्रा से अश्लील हरकतें करते दिखाई दे रहा है जिसपर स्कूल में बेठे शिक्षक मोन है।

 

पुर्व में शिक्षक रंगरलियां मनाते हुए विडियो वायरल हुआ था

पुर्व में एक शिक्षक दिपसिह चमका का विडियो भी साथी महिला कर्मचारी के साथ इसी तरह अश्लील हरकत करते हुए विडियो वायरल हुआ था मगर फिर भी उक्त शिक्षक को वहां से हटाकर आजादनगर करदिया।

कन्या आश्रम पर भी उठे थे कहीं सवाल

वहीं जोबट में एक कन्या आश्रम की एक छात्रा जो की महज 12 वर्षीय थी जो कि लगभग 5 माह प्रेग्नेंट थी जिस मामले को भी दबाने का पुरा प्रयास किया गया नाम न बताने की शर्त पर ये भी जानकारी दि गयी थी की उक्त आश्रम से कुछ और छात्रा ने आश्रम छोड़ दिया था उक्त छात्रा के बयान अलिराजपुर मे स्वस्थ्य विभाग की महिला डॉक्टर व एनजीओ को दिए गए बयान व बाद मे आए बयान में काफी अंतर पाया गया पहले छात्र छात्रा ने दुष्कर्म होने की जगह आश्रम बताई बाद में समाचार प्रकाशित होने के बाद तीसरे दिन बयान कुछ और आए मतलब साफ है लिपा पोती यहां भी हुई है।

शिक्षक पर लगे अपनी ही पत्नी के गंदे विडियो बनाने के आरोप

मात्र निलम्बन

अश्लील हरकतों को लेकर पूरे शिक्षा विभाग को शर्मसार करने वाले शिक्षक को केवल निलम्बित कर मामले को रफादफा कर देना शिक्षा विभाग के शीर्ष अधिकारी बीएसए को सवालों के कटघरे में खडा करता है। उसके खिलाफ मुकदमा क्यों पंजीकृत नहीं कराया। मात्र निलम्बन की कार्यवाही कर अपनी जिम्मेदारी से मुक्त कैसे हो गये है। यह एक गम्भीर सवाल है इसके पीछे का क्या खेल है यह जांच का विषय है। वहीं भांडाखापर के एक शिक्षक पर उसकी ही पत्नी ने गंदी विडियो बनाकर गंदा काम कराने व मारने पिटने व शोषण करने का आरोप लगाते हुए कलेक्टर महोदय को ज्ञापन दिया इसके अतिरिक्त और भी कहीं केस उक्त शिक्षक पर चल रहे हैं जिसमें वो जैल तक जाकर आया है पश्चात उक्त शिक्षक एक बार तारीख पर मुरेना जाता है तो आनेजाने तथा कोर्ट में एक दिन तकरीबन 4 से 5 दिन लगते हैं मगर सुत्र बताते हैं एक भी छुट्टी नहीं ली , फिर भी शिक्षा विभाग उसपर मेहरबान है आखिर क्यों ये एक बड़ा सवाल है।

 

शिक्षा विभाग के BEO के बिगड़े बोल

जहां स्कूल को शिक्षा का मंदिर व शिक्षक को देवता के रुप में देखा जाता है। ऐसे शिक्षा के मंदिर में शिक्षक द्वारा गंदी गालियां देना वो भी मेल फिमेल कर्मचारीयों वह छात्राओं के सामने इससे पता लगया जा सकता है। की शिक्षा में कितना सुधार अलीराजपुर जिले में देखने को मिल रहा है हमें शर्म आती है ऐसे शिक्षकों पर जो इस तरह की मानसिकता रखते हैं। इतना होने के बाद भी शिक्षा विभाग आखीर मौन‌ क्यो है। पुछता है अलीराजपुर

 

 

कट्ठीवाड़ा स्कूल का पिऊन करोड़ों का शराब माफिया

एक स्कूल का पिऊन जो बड़ा शराब माफिया निकला जिसने SDM पर हमला कर तहसीलदार का अपहरण किया व स्कूल भी नहीं जाता मगर वेतन पुरा लेता समझने वाली बात यह हे कि इतनी बड़ी ला परवाही का जिम्मेदार कोन शिक्षा विभाग में कोई भी अपनी जगह किसी को भी रखकर खुद आराम से कहीं भी गुम सकता है हद है ला परवाही और भष्ट्राचार की

निजी स्कूल मे शिक्षिका ने दिए भड़काऊ बयान नहीं हुई कार्यवाही

अलीराजपुर निजी स्कूल टेलेंट पब्लिक स्कूल कि एक शिक्षिका ने मुस्लिम समाज के पवित्र ग्रंथ कुरान के बारे में की थी गलत टिप्पणी जिसकी मुस्लिम समाज द्वारा थाने पर लिखित शिकायत की थी जिसपर भी शिक्षा विभाग ने उक्त स्कूल संचालक वह शिक्षिका पर कोई कार्यवाही नहीं की स्कूलो में हो रहे भेद भाव पर भी शिक्षा विभाग मौन।

ऐसे कहीं रोचक तथ्य हम अगली किस्त में करेंगे उजागर यदि आपके आस पास ऐसे कोई भी शिक्षक या कर्म चारी की शिकायत हो तो हमें दिजिए जानकारी हम करेंगे सबुतो के साथ बे नकाब, तो बने रहे – अलीराजपुर ब्रेकिंग न्यूज के साथ सच के साथ सबके साथ
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +918962423252

कृषि विज्ञान केन्द्र अलीराजपुर में विश्व मृदा स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर कायर्क्रम का आयोजन हुआ     |     सावधान यदि आप मतगणना स्थल पर जा रहे हो तो इस सावधानी का विशेष ध्यान रखे।     |         |     अलीराजपुर विकास खण्ड में दिव्यांग छात्रों (CWSN) ने स्पोर्ट्स एवं एक्सपोजर विजिट में अपनी प्रतिभा का उत्कृष्ट प्रदर्शन किया     |     कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डाॅ. अभय अरविंद बेडेकर ने धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया मतगणना स्थल के 200 मीटर के दायरे हेतु प्रतिबंधात्मक आदेश जारी     |         |     शैख को मिली कोर्ट से राहत अग्रिम जमानत उनके किसी भी परिजन के खाते में नही आई शासकीय राशी, शैख डायबिटीज के मरीज भी है।     |         |     आदिवासी महिला-लड़कियो की वीडियो फोटोज के साथ छेड़छाड़ कार्यवाही की मांग को लेकर थाने पंहुचा आदिवासी समाज।     |     प्रतापनगर व जोबट के बीच सीधी रेल सेवा की शुरुआत, प्रताप नगर से अलीराजपुर के बीच चलने वाली पैसेंजर जोबट तक विस्तारित     |