Ad2
Banner1

भष्ट अधिकारियो पर गीरी गाज, बीईओ कार्यालय का बडा मामला, तीन माह बाद दर्ज हुआ केस

20,47, 12727 करोड़ के घोटाले में तीन तत्कालीन बीईओ, प्रभारी लेखापाल सहित 6 पर FIR दर्ज हुई।

जुबेर निजामी की रिपोर्ट 

अलीराजपुर जब से जिला बना है जिले का शिक्षा विभाग भष्टाचार की भेंट चडता ही जा रहा है पहले भी शिक्षा विभाग मे उदयगढ़ मे 16 करोड के गबन मामले मे अबतक सभी आरोपियो की गिरफ्तारी हुई नही और फिर एक मामला सामने आगया क्या यही कारणो से जिले मे शिक्षा का स्तर गिरा हुआ  है ये बडा सवाल है ताजा मामला अलीराजपुर/कट्ठीवाड़ा बीईओ कार्यालय में संदिग्ध खातों में हुए 20.47 करोड़ रुपए के भुगतान के मामले में जांच शुरू होने के 100 वें दिन आखिरकार पुलिस ने शुक्रवार को धारा 420 व 409 में एफआईआर दर्ज कर ली है। इसमें बीईओ कार्यालय के प्रभारी लेखापाल कमल राठौड़, तीन तत्कालीन प्रभारी बीईओ, पूर्व लेखापाल, एक प्रधान अध्यापक को आरोपी बनाया गया है। पुलिस का कहना है जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।

दरअसल संचालनालय कोष व विभाग भोपाल में उपलब्ध लेखा आईएफएमआईएस मे उपलब्ध कोषालयीन रिकॉर्ड का परीक्षण करवाया था। इसमें पता चला कि आलीराजपुर कोषालय से संबंधित आहरण व संवितरण अधिकारी बीईओ कट्ठीवाड़ा से लेखा सहायक कमल राठौर के डीडीओ कोड 4902506054 से खातों से भुगतान हुआ था। इस खाते में एक से अधिक भिन्न नाम के कर्मचारी, वेंडर, लाभार्थी का नाम लिखा हुआ मिला इन खातों में हुए भुगतान संदिग्ध व धोखाधड़ी की श्रेणी में मिले। इसके चलते वित्तीय वर्ष व पांच वर्षों 2018-19 से 2023-24 के समस्त भुगतानों की जांच 16 अगस्त 2023 को शुरू की गई थी। मामले में जांच पूरी होने के बाद कलेक्टर ने एफआईआर करने के निर्देश सहायक आयुक्त आजाक विभाग को दिए थे लेकिन पुलिस ने दस्तावेजों में कमी बताकर एफआईआर करने से मना कर दिया था। अब मामले में पूरे दस्तावेज मिलने के बाद शुक्रवार को कट्ठीवाड़ा पुलिस थाने में कट्ठीवाड़ा बीईओ कार्यालय के तीन तत्कालीन बीइओ मधुलाल परमार, अच्छेलाल प्रजापति, रामनारायण राठौर, शासकीय उमावि चांदपुर के सेवानिवृत्त लेखापाल मोईनुद्दीन शेख, प्रधान अध्यापक उमावि आमखूंट में पदस्थ रमेशचंद्र बघेल पूर्व प्रभारी लेखापाल भुगतान कट्ठीवाड़ा कमल राठौर के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

गबन मे इन आरोपियो की यह रही भुमिका

(1) मधुलाल परमार

मार्च 2018 तक बीईओ रहे, एक मामले में एफआईआर होने के बाद उन्हें जेल जाना पड़ा था, इसके बाद पद छोड़ा। भुगतान अप्रूव किए। अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं।

राशी- 1902694/रुपये

———————————————————

(2) अच्छेलाल प्रजापति

1 जुलाई 2018 से 31 अक्टूबर 2022 तक बीईओ रहे। भुगतान अप्रूव किए। अक्टूबर 22 में सेवानिवृत्त हो गए। 

राशी- 15,44,29025/रुपये

———————————————————

(3) रामनारायण राठौर 

9 नवंबर 2022 से 2 अगस्त 2023 तक बीईओ रहे। भुगतान अप्रूव किए। वर्तमान में हाईस्कूल भारत की चौकी आलीराजपुर के प्रभारी प्राचार्य।
राशी- 3,12,56748/रुपये

———————————————————

(4) मोइनुद्दीन शेख 

उमावि चांदपुर के लेखापाल के पद पर पदस्थ थे। जुलाई 2022 में सेवानिवृत्त हो गए। भुगतान में इनकी आईडी- पासवार्ड का उपयोग हुआ। 
राशी- 2,72,42903/रुपए 

———————————————————

(5) रमेशचंद्र बघेल 

उमावि आमखूंट में जून 2015 से अब तक पदस्थ है। भुगतान में इनकी आईडी- पासवार्ड का उपयोग हुआ।

राशी- 20,47,12727

———————————————————

(6) कमल राठौड़ 

29 जून 2016 से बीईओ कट्ठीवाड़ा के प्रभारी लेखापाल अक्टूबर 2023 तक पदस्थ रहे। इन्होंने डीडीओ कोड का उपयोग कर खातों में भुगतान कराया। वर्तमान में शा. उमावि खट्टाली विखं जोबट में पदस्थ है।

राशी- 20,47,12727

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +918962423252

आदिवासी बाहुल्य जिले से हुआ ISPL मे चयन जिले मे हर्ष तो जिला कलेक्टर ने सम्मानित कर किया आर्थिक सहयोग।     |     श्री राम गोशाला में हुआ मुंडन संस्कार, अपूर्व जगदीश गुप्ता के द्वारा पुत्र अर्थिव गुप्ता का तुलादान व धूमधाम से गौ माता की आरती की गई     |     जिले मे शिक्षक की बेटी ने मप्र लोक सेवाआयोग द्वारा आयोजित आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी मे प्रदेश मे प्रथम स्थान पाया।     |     खंडवा बड़ौदा मार्ग पर फाटा के समीप भूरघाटी में हुआ हादसा, फार्रच्युनर हुई चकनाचूर, चार घायल, नगर में शौक का माहौल     |     मरीजों के स्वास्थ्य में किसी प्रकार की कोताई बर्दास्त नहीं की जाएगी-विधायक पटेल     |     असंतुलित होकर फुलझरी नाले मे पुलिया के निचे आईसर गिरी, आऐ दिन होती है दुर्घटना।     |     नर्मदे हर के जयकारो से गुंजामय हुआ ककराना तट , मॉं नर्मदा मैया को चढ़ाई 551 मीटर चुनरी।     |     विधायक पटेल ने अग्नि पीड़ित परिवार को घेरेलु सामग्री ओर सहायता राशि प्रदान की     |     पैसा नियम में मिले अधिकार से ग्राम सभा के माध्यम से गांव को सांस्कृतिक, सामाजिक व आर्थिक रूप से किस प्रकार से सशक्त किया जाए।     |     मध्यप्रदेश जयस प्रभारी की उपस्थिति में अलीराजपुर जिले की जयस कार्यकारिणी का किया गया विस्तार     |