Ad2
Banner1

सामुदायिकग पुलिसिंग के तहत ग्राम मथवाड एवं चनोटा में अलीराजपुर पुलिस का जन जाग्रति अभियान

जन जागृति अभियान- व्‍यसन, शिक्षा का प्रसार एवं महिलाओं का सम्‍मान

अलीराजपुर:- पुलिस अधीक्षक श्री मनोज कुमार सिंह के द्वारा सामुदायिक पुलिसिंग के तहत थाना बखतगढ एवं सोण्‍डवा क्षैत्रान्‍तर्गत दिनांक 16 जुलाई को ग्राम मथवाड एवं ग्राम चनोटा का भ्रमण किया गया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री मनोज कुमार सिंह ने ग्राम मथवाड एवं चनोटा के लोगों के बीच समय बिताया व ग्रामीणों से रूबरू हुये। इस दौरान काफी संख्‍या में महिला, पुरूष व बच्‍चे उपस्थित हुये। उपस्थित ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक अलीराजपुर श्री मनोज कुमार सिंह का आत्‍मीयता से सम्‍मान कर खुलकर बात की।

जनजागृति अभियान के तहत ग्रामीण जनों को प्रचलित कुरूतियों के संबंध में जागरूक किया गया एवं शराब का सेवन न करने, यातायात के नियमों, 18 वर्ष से कम की आयु में भागकर शादी करने, डाकण प्रथा, महिला हेल्पलाइन, ऊर्जा महिला डेस्क के बारे में जानकारी देकर जागरूक करने का प्रयास किया गया । उक्त विषयों पर पुलिस अधीक्षक द्वारा ग्रामीण जनों से रूबरू चर्चा की गयी एवं अद्ययनरत छात्रों को ड्राप आउट न करते हुए पढ़ाई आगे जारी रखने संबंधी प्रोत्साहित किया गया। इस दौरान अलीराजपुर पुलिस के द्वारा उपस्थित ग्रामीणों से अपील कि गई, कि अपने सामाजिक स्‍तर को और बेहतर बनानें के लिये आवश्‍यक है, कि सभी जागरूक होवें, महिलाओं, बुजुर्गों का सम्‍मान करें, बच्‍चों को पढाये तथा जो भी बुराई, जिससे कि समाज पर प्रतिकूल प्रभाव पडता हो उसे त्‍याग करें, जिससे समाज मे अच्‍छा माहोल एवं वातावरण का निर्माण होगा।

*जन जागृति अभियान का उद्देश्‍य*- जिले में व्याप्त सामाजिक कुरीतियों, अंधविश्‍वास, डाकनप्रथा एवं समाज में महिलाओं के प्रति सम्मान हेतु ग्रामीण जनता के मध्य जाकर चौपाल एवं खाटला बैठक के माध्यम से समझाईश दी जाकर तथा शिक्षा के स्तर मे सुधार कर इसे काफी हद तक दूर किया जा सकता है, जिसके लिये अलीराजपुर पुलिस के द्वारा विगत् 06 माहों से लगातार जन जाग्रति अभियान चलाया जा रहा है।

नवाचार की दिशा में जन जागृति अभियान के माध्यम से किये जा रहे प्रयास-

ग्रामीण क्षैत्र में शराब/ताडी के सेवन से क्षणिक आवेश मे आकर हत्या, अपहरण, बलात्कार एवं छेडछाड जैसे गंभीर अपराध घटित होते हैं, जिससे ग्रामीण परिवार आर्थिक एवं सामाजिकरूप से काफी प्रभावित होता है पर नियंत्रण लाना। ग्रामीण अंचल मे भयमुक्त व स्वच्छ वातावरण निर्मित करने के उदेश्‍य से शासन की मंशानुरूप अलीराजपुर पुलिस के द्वारा विगत् 06 माहों से दूर-दराज क्षेत्रों में ग्रामीणों के मध्य जाकर जन जागृति अभियान वृहद स्तर पर संपूर्ण जिले में चलाया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक के द्वारा दूरस्थ ग्रामीण अंचलों में पहुंचकर चौपाल का आयोजन कर खाटला बैठक ली जा रही है, जिसमें बडी संख्या में महिला-पुरूष एवं बच्चे उपस्थित होते है। चौपाल मे उपस्थित ग्रामीणजनो से स्थानीय भाषा में रूबरू संवाद कर जनता की समस्या सुनी जाती है।

जन जागृति अभियान के तहत अलीराजपुर पुलिस के द्वारा चौपालों के माध्यम से शराब/ताडी का सेवन नहीं करने, महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता तथा उनके प्रति सम्मान की भावना रखने, बच्चों को नियमित रूप से स्कूल भेजने के लिये ग्रामीणजनो को प्रेरित किया जा रहा है, जिससे समाजिक स्तर में सुधार लाया जा सके व एक स्वच्छ समाज का निर्माण हो सके।इसी प्रकार जिले के समस्त राजपत्रित अधिकारी एवं थाना प्रभारियों के द्वारा भी जन जागृति अभियान के तहत सप्ताह में दो दिवस दूरस्थ ग्रामों के स्कूलों में जाकर ग्रामीण बच्चों को पढाया जा रहा है तथा इन्हें एक अच्छे समाज के निर्माण के लिये सामाजिक कुरीतियों, अंधविश्‍वास एवं महिलाओं के प्रति सम्मान की भावना रखनें के लिये जाग्रत किया जा रहा है।

जन जागृति अभियान से प्राप्त परिणाम- जन जागृति अभियान के चलाये जानें के पश्चात् से ग्रामीण जनता में जन जागरूकता तथा पुलिस के प्रति विश्‍वास बढा है। ग्रामीण महिलाओं के द्वारा भी उन पर होनें वाले अत्याचारों के प्रति जागरूकता बढी है व अत्याचारों के विरूद्ध कार्यवाही के लिये पुलिस का सहयोग ले रही है, जिससे पुलिस द्वारा ऐसी घटनाओं पर तत्परता से कार्यवाही की जा रही है। जन जागृति अभियान के परिणामस्‍वरूप महिलाओं पर घटित अपराधों मे कमी आई है, जिसमें मुख्‍यत गतवर्ष 2021 की तुलना में वर्ष 2022 में अपहरण 43%, आत्‍महत्‍या 25%, दहेज प्रताडना 29%, बलात्‍कार 20% एवं छेडछाड के अपराधों में 46.42% प्रतिशत की कमी होकर महिला संबंधी अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण अलीराजपुर पुलिस द्वारा जन जाग्रति माध्‍यम के द्वारा किया गया है। समाज में महिलाओं को पुरूष के बराबर सम्मान के प्रति आमजन में जागरूकता निर्मित हुई है।

पुलिस अधीक्षक अलीराजपुर श्री मनोज कुमार सिंह ने बताया कि इस प्रकार की सामुदायिक पुलिसिंग आगे भी जारी रहेगी तथा दुरस्‍थ गांवों में जाकर उनसे चर्चा कर जागरूकता का पुरा-पुरा प्रयास किया जा रहा है, जिससे कि एक अच्‍छा वातावरण तैयार होनें से सभी तरह के होनें वाले अपराधों में स्‍वत कमी आयेगी तथा जब गांव का विकास होगा तो संपूर्ण जिले का विकास होगा। सभी थाना प्रभारी सप्ताह में दो बार जन जागृति अभियान की बैठक रखनें के लिये निर्देशित किया गया है।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +918962423252

थाना आम्बुआ मैं 72 पौधों का रोपण किया गया, सभी को एक पौधा बड़ा करना है :- पटेल      |     सायबर फ्राड़ /सोशल मीडीया के बढ़ते अपराध से निपटने के लिए सायबर पुलिस मित्र के रूप में नियुक्त किया। मोबाईल नम्बर किये जारी।     |     पर्यावरण संरक्षण का महाअभियान “एक पेड़ मां के नाम” पुलिस विभाग द्वारा मनाया जायेगा।     |     स्वयं सहायता समूह सांझा चुल्हा की महिलाओं ने दिया ज्ञापन ,आंगनबाड़ी केदो पर की साहिकाओ को समूह देने से नाराज स्वयं सहायता समूह की महिलाएं      |     अनियंत्रित हो कर खेत में जा घुसी बाइक, 108 की मदद से जिला अस्पताल में लाया गया उपचार जारी     |     परचम कुशाई(धार्मिक ध्वज फहराकर) हुआ इस्लामिक नये साल का स्वागत, अलम जुलूस के साथ हुआ मोहर्रम पर्व का आगाज़     |     सायबर ठगी का शिकार हुए पीडित को मिली  राशि 15,75,208 /- रुपये साइबर फ़्राउ आवेदको को कराई वापस सायबर फ्राड पीडितो को राहत     |     सड़क दुर्घटनाओ में गंभीर घायलो को तत्काल उचित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से यातायात पुलिस ने चलाई, गुड सेमेरिटन योजना।     |     विधायक श्रीमती पटेल ने विधानसभा में नर्सिंग घोटाले का मुद्दा पुरजोर तरिके से उठाया, कहा दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए     |     13 वर्षीय बालक का शव कुए मे मिलने से क्षैत्र मे फेली सनसनी, हत्या, आत्महत्या, या हादसा, जाच का विषय     |