Ad2
Banner1

पी एच ई विभाग की लापरवाही के चलते क्षैत्र के ग्रामीण आदिवासी पानी की किल्लत को लेकर परेशान

खलील मंसूरी की रिपोर्ट ✍🏻

उदयगढ /निस/उदयगढ विकास खण्ड के ग्राम पंचायत मोटा उमर मे मुख्यालय पर लाखो रुपए व्यय के बाद शासन द्वारा नलजल योजना अन्तर्गत पानी की टंकी निर्माण के साथ ही फलियो मे पाईप लाईन बिछाकर पानी की सुविधा आदिवासीयो को मुहैया करवाई जाना थी ।

इस संबध मे पानी की टंकी निर्माण सहित फलियो मे पाईप लाईन का कार्य पुर्ण बताया जाकर ग्राम मोटा उमर मे दो माह पुर्व पानी सप्लाई को लेकर विधिवत नलजल योजना का शुभारंभ कर दिया गया।

किन्तु ग्राम मोटा उमर के आदिवासी ग्रामीणजन की माने तो उनका कहना है कि नलजल योजना का उदघाटन कर योजना को जरुर चालु बताई जा रही है । पर योजना के शुभारंभ के बाद आजतक पानी टंकी से सप्लाय नही किया जा रहा है?

इसी गाव के गाली मवडी फलिया के आदिवासी महिला व पुरुषो जेसै बबली दिपक ,भावली दिपक,मंजु मगन, करमबाई प्रताप, रमतु पागु,झुमलीबाई लोगसिह, केरी हरसिह, पानबाई मगन ,डुढीबाई भुरला, महिला सहित पुरुष प्रकाश नहारसिह, डुगरिया मगन, लोगसिह गेंदा,खुमसिह केकडिया, नरसिह मानसिह, बोदरसिह मगन, मगनसिह सेकडा, अमरसिह कुवरसिह इडिया लोगसिह, कोदरसिह मगन,दिनेश जोहरसिह, दिपक लोगसिह, लोगसिह गेंदा, नारायण सिह भुरला, मुकेश छगन, राजु डुगरिया, मेहरसिह केकडिया, सुमेरसिह छगन, केकडिया जोहरसिह, आदि ने बताया कि नलजल योजना शुभारंभ होने के बाद अभी तक फलिये मे पानी नही पहुचा और आज तक योजना का लाभ नही मील पा रहा है ।जबकि हम फलिये के करीब 28/30 आदिवासी परिवार फलिये मे लगे चार हेन्डपंप से ही अपना जैसे तैसे काम चला रहे थे?

किन्तु उक्त हेन्डपंप आज करीब दो माह से बंद पडे हुए है ।जो हेन्डपंप चालु है उसमे पानी का स्तर निचे चले जाने काफी देर तक हेन्डपंप हलाने के बाद भी पानी टोटी मे नही आ रहा है। जिससे पानी पिने की किल्लत को लेकर काफी परेशान है?

इस सबंध मे आदिवासीयो ने सरपंच को भी अवगत कराया जिस पर पी एच ई विभाग के कर्मचारीयो द्वारा हेन्डपंप मे पाईप बडोतरी करने के चक्कर मे हेन्डपंप खोलकर गये आज तक हेन्डपंप ऐसा ही पडा हुआ न विभाग द्वारा पाईप आए न आज तक हेन्डपंप सुधारा गया।

जबकि गाव की पुन: शिकायत पर पी एच ई विभाग जोबट से एक उप यंत्री दिनाक 17अप्रेल को ग्राम मोटा उमर के फलिये मे पहुचा और गाव के सरपंच के सामने पिडित आदिवासीयो को बोला कि कल जोबट आकर पाईप ले जा ओ । और हेन्डपंप कर्मचारी से पाईप डलवा देगे आप लोगो कि पानी की समस्या से निजात मील जा एसी ।

जिस पर गाव का एक दिपक नामक युवक अपने साथियो के साथ अपने नीजि किराये पर एक रिक्शा लेकर 18अप्रेल को पी एच ई कार्यालय जोबट पहुचा । किन्तु पाईप नही है कहकर उनको भगा दिया ।और कहा जब भी पाईप आऐगे पहुचा देगे ?

अब ऐसी स्थिति मे ग्रामीण आदिवासी करे भी तो क्या करे । उनकी समस्या का निदान कैसे कुछ समझ से परे है।

इसी प्रकार उदयगढ विकास खण्ड क्षैत्र की ग्राम पंचायत धामंदा के ग्राम खुशालबयडी मे दो वर्ष पुर्व पानी की टंकी सहित चार फलिया (1)तडवी फलिया (2)होली फलिया (3)धावडी फलिया (4) पटेल फलिया आदि मे शासन के द्वारा आदिवासीयो नलजल योजना से पानी मुहैया कराने के नाम पाईप लाईन बिछाने के नाम लाखो रुपया व्यय किया गया ।

किन्तु गाव मे टंकी बनाने.के बाद ठेकेदार ने तडवी फलिया व पटेल फलिया मे आज तक सम्पूर्ण पाईप लाईन नही डाली . और पी एच ई विभाग से साठ गाव कर नल जल योजना को प्रारंभ करवा दी । कार्य अधुरा आजतक पुर्ण नही होकर योजना का लाभ आज तक ग्रामीणो कोई नही मील पा रहा है।

खुशहाल बयडी के आदिवासी ग्रामीण जन कुवरसिह नानका, सामुसिह बुधिया, रामलाल जवरसिह,राघुसिह खराडी,डुमसिह उकार,डुगरसिह वेस्ता, नानबु सुरसिह, रामा भुरसिह आदि ने बताया की शासन की योजना का लाभ आज तक नही मील रहा है। गाव मे पानी की समस्या बनी होकर आम आदिवासी परिवार पुराने हेन्डपंप पर ही आधारित है । पटेल फलिया व तडवी फलिया के रहवासी परिवार समशान

घाट पर लगा हेन्डपंप व स्कुल पर लगे हेन्डपंप से ही अपना जैसे तैसे काम चलाकर अपनी प्यास बुझा रहे है । जबकि गाव मे नलजल योजना बंद पडी है?

इसी के साथ ही उदयगढ मुख्यालय पर भी शासन की और से नलजल योजना अन्तर्गत एक नही दो दो पानी की टंकी का निर्माण सहित योजना चालु बताई जा रही है।पानी सप्लाई को लेकर आज भी उदयगढ वासी काफी परेशान है।

पानी व बिजली वयवस्था को लेकर शासन प्रशासन प्रति वर्ष लाखो करोडो रुपया व्यय कर योजनाए तो जनहित मे लागु करती है।

देखा भी जा ए तो जगह जगह ग़्रामीण क्षैत्रो पानी की बनी टंकीया व बिजली क पोलो से पता चलता की शासन आम जनता के लिए पानी व बिजली मुहैया को लेकर कितनी सजग है।

परन्तु जब इन योजना को करीब से पडताल की जा ए तो पता चलता है कि ग्रामीण क्षैत्र मे इन योजनाओ का लाभ आम जन को नही मील रहा है ।केवल पी एच ई विभाग की लापरवाही व ठेकेदार की साठगांठ की दास्तान नजर आती है ?

जो जिले मे प्रत्येक नल जल योजना की जाच कर दोषियो के खिलाफ FiR दर्ज कर आम जनता को अपना हक दिलाया जो ठेकेदार व पी एच ई विभाग खा गये है

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- +918962423252

थाना आम्बुआ मैं 72 पौधों का रोपण किया गया, सभी को एक पौधा बड़ा करना है :- पटेल      |     सायबर फ्राड़ /सोशल मीडीया के बढ़ते अपराध से निपटने के लिए सायबर पुलिस मित्र के रूप में नियुक्त किया। मोबाईल नम्बर किये जारी।     |     पर्यावरण संरक्षण का महाअभियान “एक पेड़ मां के नाम” पुलिस विभाग द्वारा मनाया जायेगा।     |     स्वयं सहायता समूह सांझा चुल्हा की महिलाओं ने दिया ज्ञापन ,आंगनबाड़ी केदो पर की साहिकाओ को समूह देने से नाराज स्वयं सहायता समूह की महिलाएं      |     अनियंत्रित हो कर खेत में जा घुसी बाइक, 108 की मदद से जिला अस्पताल में लाया गया उपचार जारी     |     परचम कुशाई(धार्मिक ध्वज फहराकर) हुआ इस्लामिक नये साल का स्वागत, अलम जुलूस के साथ हुआ मोहर्रम पर्व का आगाज़     |     सायबर ठगी का शिकार हुए पीडित को मिली  राशि 15,75,208 /- रुपये साइबर फ़्राउ आवेदको को कराई वापस सायबर फ्राड पीडितो को राहत     |     सड़क दुर्घटनाओ में गंभीर घायलो को तत्काल उचित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से यातायात पुलिस ने चलाई, गुड सेमेरिटन योजना।     |     विधायक श्रीमती पटेल ने विधानसभा में नर्सिंग घोटाले का मुद्दा पुरजोर तरिके से उठाया, कहा दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए     |     13 वर्षीय बालक का शव कुए मे मिलने से क्षैत्र मे फेली सनसनी, हत्या, आत्महत्या, या हादसा, जाच का विषय     |